इन्टरनेट ट्रेडिंग क्या होती है |What is Internet trading And its Importance |

जैसा कि आप जानते हैं पिछले कुछ सालों में भारतीयों ने शेयर बाजार में रुचि दिखाई है ओर इनकी तादाद बढ़ती जा रही है और ट्रेडिंग का सबसे बढ़िया जरिया है इन्टरनेट ट्रेडिंग इसलिए इसकी जानकारी होना बेहद महत्वपूर्ण है तो चलिए आज हम आपको बताएंगे इन्टरनेट ट्रेडिंग क्या होती है |What is Internet trading And its Importance |

नमस्कार दोस्तों!!!

मैं राज ठाकुर आप सभी का अपने इस नए ब्लॉग पोस्ट पर हार्दिक स्वागत करता हूं ओर उम्मीद करता हूं यहाँ से आज आप कुछ बेहतर सीख कर जाएंगे |

इन्टरनेट ट्रेडिंग क्या होती है ?

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है इन्टरनेट ट्रेडिंग यानी नेट के माध्यम से की जाने वाली ट्रेडिंग |

या अगर इसे परिभाषित करें तो जब भी कोई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म चाहे वो सरकारी हो चाहे गैर सरकारी,किसी भी स्टॉक, म्यूचुअल फंड, बॉन्ड अथवा डेरिवेटिव इत्यादि को खरीदने या बेचने की सुविधा प्रदान करता है तो उसे हम ऑनलाइन ट्रेडिंग कहते है।

यह किसी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जेसे amazon,flipkart आदि से सामान खरीदने जितना आसान काम होता है |

इन्टरनेट ट्रेडिंग के क्या फायदे हैं ?
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग में हम बड़ी आसानी स्टॉक खरीद और बेच सकते हैं।
  • Traders वर्तमान समय के बाजार और उनके व्यापार को आसानी से ट्रैक कर सकते हैं।
  • इन्टरनेट ट्रेडिंग पर एक ही ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म कई प्रकार के उपकरण उपलब्ध करवाता हैं। जैसे आप स्टॉक में ट्रेडिंग कर सकते हैं, गोल्ड में बॉन्ड में या म्यूच्यूअल फंड को भी खरीद सकते हैं |
  • आप इन्टरनेट की मदद से कहीं से भी और किसी भी समय पर ऑनलाइन ट्रेड कर सकते हैं।

इसके अलावा भी कुछ खास फायदे हैं जैसे

कम कागजी कार्रवाई :-

इन्टरनेट ट्रेडिंग में आपको बेहद कम कागजी कार्रवाई की जरूरत पड़ती है जिससे आप पर ज्यादा कागजी लोड नहीं पड़ता |

संचार संबंधी गलतियों पर नियंत्रण :-

Offline Trading में कई बार Trader और ब्रोकर के बीच कम्युनिकेशन संबधी गलतियां हो जाती हैं लेकिन ऑनलाइन ट्रेडिंग में ऐसा नहीं होता क्योंकि इसमे Trader स्वंय ही ऑर्डर देता है |

घर बैठे ट्रेडिंग की जा सकती है:-

इन्टरनेट ट्रेडिंग में आपको कहीं भी ऑफिस में बैठने की जरूरत नहीं पड़ती आप घर बैठे फोन से ही अपने ऑर्डर प्लेस कर सकते हो जिससे समय और पैसे दोनों की बचत होती है |

इन्टरनेट ट्रेडिंग की कुछ कमियां :-
  • कई बार अस्थिर नेटवर्क दिक्कत कर सकता है |
  • कई बार आप ऑनलाइन ट्रेडिंग में सही ब्रोकर नहीं चुन पाते |
  • कई बार फोन में कुछ तकनीकी खराबियों के कारण भी परेशानी आ सकती है |
  • सॉफ्टवेयर हैक होने की संभावना बनी रहती है |
  • हर समय फोन साथ में होने की वज़ह से कई बार ये लत भी बन जाती है |

इन्टरनेट ट्रेडिंग की हालांकि कई खामियां हैं इसके बावजूद इन्टरनेट ट्रेडिंग की शेयर मार्केट का भविष्य दिखाई पड़ता है क्योंकि आज के समय में हर कोई डिजिटल होता जा रहा है और भविष्य में इसकी ग्रोथ के चांस ज्यादा दिखाई दे रहे हैं |

आप सीख रहे हैं इन्टरनेट ट्रेडिंग क्या होती है |What is Internet trading And its Importance |

हम इन्टरनेट ट्रेडिंग कैसे कर सकते हैं :–
  • Step 1: सेबी-पंजीकृत किसी बेहतरीन ब्रोकर से संपर्क करें तथा अपना Demat और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाए |
  • ये दोनों अकाउंट खोलने के लिए आपके पास पैन कार्ड, आधार कार्ड, कोई रद्द चेक, और पासपोर्ट साइज फोटो जैसे कुछ दस्तावेज होना जरूरी है |
  • Step 2: खाता खुल जाने के बाद, आपको अपने बैंक खाते से ट्रेडिंग खाते में धनराशि स्थानांतरित करनी होगी।
  • Step 3: अब आप कहीं भी और कभी भी ऑनलाइन ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं।
Online Trading vs Offline Trading में अन्तर
  • ऑफलाइन ट्रेडिंग में आपके समय और पैसे की ज्यादा खपत होती है जबकि ऑनलाइन ट्रेडिंग में ऐसा नहीं होता |
  • ऑफलाइन ट्रेडिंग में आपको ब्रोकर के चक्कर लगाने पड़ते हैं जबकि ऑनलाइन ट्रेडिंग में आप खुद से ऑर्डर प्लेस कर सकते हो |
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग में हैकिंग का खतरा बना रहता है जबकि ऑफलाइन ट्रेडिंग में ऐसा नहीं होता |
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग में सिस्टम हैक,सॉफ्टवेयर अपडेट होना या नेटवर्क से सम्बन्धित इशू देखने को मिल सकता है जबकि ऑफलाइन ट्रेडिंग में ऐसा कुछ नहीं होता |
  • ऑफलाइन ट्रेडिंग में आपको किसी एक ब्रोकर पर निर्भर रहना पड़ता है जबकि ऑनलाइन ट्रेडिंग में खुद से ही सर्च
  • मैं आशा करता हूं आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी औऱ आपने जरूर कुछ नया सीखा होगा|

अगर आप शेयर मार्केट की ताजा अपडेट से जुड़े रहना चाहते हैं तो इन्हें फॉलो कर सकते हैं :-

CNBC News

इंटरनेट ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है?

इन्टरनेट ट्रेडिंग 05 तरह की होती है |
1. Intraday trading
2.Scalping Trading
3. Swing Trading
4. Positional Trading
5. Arbitrage Trading

सबसे अच्छा ऑनलाइन ट्रेडिंग कौन सा है?

1. 5 पैसा
2. Zerodha

सबसे अच्छी ट्रेडिंग कंपनी कौन सी है?

HDFC Securities
ICICI Directries

सबसे सस्ता ब्रोकर कौन सा है?

Upstox सबसे सस्ता ब्रोकर माना जाता है |

ट्रेडिंग में क्या सीखना जरूरी है?

Fundamental Analysis और Technical Analysis

भारत में कितने स्टॉक ब्रोकर है?

लगभग 300 के करीब

Related Post :

ट्रेडिंग में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है |Why support and Resistance is Important for Beginners|

ऑप्शन ट्रेडिंग क्या होती है |Why Option Trading is Important |

शेयर बाजार में ICO क्या होता है |Why Initial Coin Offering is Important |

Best Perimeter For Analyzing a Compnay In Hindi|

शेयर मार्केट में कितने ट्रेडिंग ट्रेंड हैं | Important Trading Trends in Share Market

SEBI (Security And Exchange Board Of India) In Hindi

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top