“नेट ऐसेट वैल्यू पर शेयर”क्या है| Why NAV is Important

अगर आप शेयर बाजार में पैसा कमा रहे हो लेकिन NAV के बारे में नहीं जानते तो हो सकता है आपकी कमाई कुछ ही समय की हो इसलिए सतर्क रहिए क्योंकि लंबे समय तक शेयर मार्केट से पैसा तभी बनाया जा सकता है जब आपको उसका सम्पूर्ण एनालिसिस करना आता हो तो चलिए आज शेयर मार्केट की इस कड़ी में एक और अध्याय जोड़ते हैं जो है “नेट ऐसेट वैल्यू पर शेयर”क्या है| Why NAV is Important

नमस्कार दोस्तों!!!!

मैं Writerraaz आप सभी का मेरी इस नयी पोस्ट पर हार्दिक स्वागत करता हूं और भरोसा दिलाता हूं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप यहां से जरूर कुछ नया सीख कर जाएंगे |

NAV होती क्या है :–

NAV म्यूचुअल फंड से संबधित एक टर्म है तथा एक Mutual Fund के इनवेस्टर के लिए नेट एसेट वैल्यू की हर एक चीज को गहराई से समझना बेहद अहम है|

क्योंकि जैसे ही आप NAV की बारीकियों को समझ गए तो म्यूचुअल फंड में अपनी निवेश की गई रकम की गणना और उससे मिलने वाले रिटर्न का idea काफी आसानी से लगा पाएंगे|

साधारण शब्दों में नेट एसेट वैल्यू जिसे शॉर्ट फॉर्म में हम NAV भी कहते हैं से हमारा अभिप्राय निवेश की मार्केट वैल्यू से है| Mutual Fund में निवेश की हर प्रति यूनिट के आधार पर ही NAV को निर्धारित किया जाता है|

NAV की गणना केसे की जाती है :–

पर यूनिट NAV को निकालने के लिए म्यूचुअल फंड के पास जमा रकम और साथ में पोर्टफोलियो के सभी शेयरों के वर्तमान बाजार मूल्य के कुल योग में से कुल देनदारियों को घटाने के बाद जो बकाया बचता है उसे यूनिट की कुल संख्या से विभाजित करके निकालते हैं|

ये एसेट मैनेजमेंट कंपनीज हर फंड के NAV की गणना हर दिन के कारोबार के अंत में करती है.आपकी जानकारी के लिए बता बता दें कि बाजार में मौजूद सिर्फ ETF की NAV ही मार्केट के साथ-साथ चलती है|

NAV = (Assets-Liabilities) / Total Number of Units

सामान्यतः म्यूचुअल फंड में हर यूनिट की बेस वैल्यू 10 रुपये अथवा 100 रुपये होती है| फंड के पोर्टफोलियो के मार्केट प्राइस के मुताबिक ही इन यूनिट का NAV कम या बढ़ता रहता है|और ये NAV किसी mutual fund के यूनिट के ग्रोथ को बताती है|

जैसे कि अगर मान लो आप किसी फंड में 20 रुपये प्रति यूनिट की NAV पर निवेश करते हो तथा 1 साल बाद उस यूनिट की NAV 40 रुपये प्रति यूनिट हो जाती है तो कहा जाता है कि उस फंड ने 100% का बेहतरीन रिटर्न दिया है|

NAV और Mutual Fund में क्या अन्तर है :–

NAV का पूरा नाम  Net Asset Value होता है यह NAV एक निवेश कंपनी की कुल देनदारियों को घटाकर संपत्ति के कुल मूल्य का एक उपाय होता हैं।

NAV का प्रयोग मुख्यतः Mutual fund, ETF के मूल्य की गणना और जाँच के लिए किया जाता हैं।

NAV की गणना हम किसी भी फण्ड के कुल बचे शेयरों की संख्या से उस निवेश कंपनी की संपत्ति के कुल मूल्य को विभाजित करके करते हैं |

वहीँ Mutual fund ऐसा निवेश तरीका है जो एक बार में बहुत से इनवेस्टर से धन को एकत्रित करते हैं तथा उस जमा धन को विविध पोर्टफोलिओ जैसे की स्टॉक्स, बांड्स और सरकारी और गैर सरकारी सम्पत्तियों को खरीदने के लिए किया जाता हैं।

वहीं इन फंड की व्यवस्था के लिए एक प्रोफेशनल फंड नियुक्त किया जाता है जो इस फंड को बेहतर से बेहतर तरीके से निवेश करता है ताकि निवेशको के पैसे का बेहतर रिटर्न दिया जा सके।

आप पढ़ रहे हैं नेट ऐसेट वैल्यू पर शेयर”क्या है| Why NAV is Important

NAV की खासियत या लाभ क्या हैं :
  • NAV फण्ड की संपत्ति के वर्तमान मार्केट मूल्य को दर्शाता हैं।
  • NAV सरल और गणनीय हैं, अर्थात इनवेस्टर पोर्टफोलियो और वर्तमान मूल्य को देखकर NAV की गणना कर सकता है।
  • NAV किसी भी फण्ड के समस्त प्रदर्शन का सटीक और विश्वसनीय माप देता है।
  • NAV की गणना और उपयोग करना काफी आसान है।
NAV के नुकसान या हानि :–
  • नेट एसेट वैल्यू (NAV), म्यूचुअल फंड स्कीम की यूनिट की कीमत है।
  • इसका कैलकुलेशन दिन के अंत में ही किया जाता है |
  • Mutual fund अक्सर NAV के आधार पर ही खरीदे या बेचे जाते हैं।
  • NAV कभी भी मार्केट में हो रहे उतार चढ़ाव से प्रभावित हो सकता हैं।
  • NAV किसी भी फंड की गुणवत्ता और profitable Mindset पर विचार नहीं करता हैं।
  • NAV किसी भी फंड के खर्चों, जैसे Management fees इत्यादि लागतों को ध्यान में नहीं रखता है।
निवेशकों के लिए NAV जरूरी है क्या :–

NAV मात्र ये तय करने में हमारी मदद करता हैं की इनवेस्ट किये पैसे के लिए कितनी यूनिटस अलॉट की जाएगी।

एक निवेशक के लिए जरूरी है कि वो इस बात की परवाह ना करें की आपके पास कितनी यूनिटस trade के लिए बची है, बल्कि आपको देखना चाहिए की आपके निवेश की वैल्यू कितनी बढ़ी हैं।

वहीं जानकारों का मानना है कि NAV किसी भी म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम का एक सटीक इंडिकेटर नहीं होता है |

इसके अलावा यदि आप शॉपिंग के भी शौकीन है तो इन्हें जरूर चेक करें :

Myntra

Meesho

1 दिन में शेयर बाजार में कितना पैसा कमा सकते हैं?

शेयर बाजार में आप एक दिन में 1000 से 100000 तक भी कमा सकते हो बस उसके लिए आपके पास शेयर मार्केट का पूर्ण ज्ञान होना जरूरी है |

भारत में नंबर 1 शेयर बाजार कौन है?

बंबई स्टॉक एक्सचेंज जिसकी स्थापना 1875 में हुई थी |

शेयर मार्केट का किंग कौन है?

भारत में राकेश झुनझुनवाला को शेयर मार्केट किंग्स कहा जाता है |

शेयर बेचने के बाद पैसा कब आता है?

शेयर बेचने के 02 दिन बाद आपके अकाउंट में पैसा आता है |

Related Post :-

What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

रिटर्न ऑन ऐसेट क्या होता है |What its Importance for Traders|

मार्केट कैपिटलाइजेशन क्या होता है |What is The Meaning of Market Capitalization |

Mutual fund क्या होते हैं | Best 10 Mutual Funds For Long Term

Best Tips For Traders In Hindi | शेयर बाजार के लिए टॉप 30 टिप्स |

एंजेल वन | Best Broker in India

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top