स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर आप सभी का writerraaz के इस ब्लॉग पर हार्दिक स्वागत है जहां मैं आज आपको स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें? इसके बारे मे बताऊँगा|

स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

दोस्तों क्या आप बी शेयर बाजार से अमीर बनने के सपने देख रहे हैं तो उसके लिए आपको एक टेक्निकल एनालिसिस करना आना चाहिए |यहाँ में एक बात बता दूँ कि technical analysis के बारे मे जाने बिना शेयर बाजार में प्रवेश ना ही करें तो बेहतर रहेगा

शेयर बाजार कोई पैसे छापने की मशीन नहीं है जहां से आप रातों रात अमीर बन जाओगे

दुनिया के सबसे बड़े इनवेस्टर warren buffet को भी इस मुकाम तक पहुंचने में 50 साल लगे

Warren buffet ने 16 साल की उम्र से ही शेयर बाजार को अपना व्यवसाय चुन लिया था और उन्हें सम्पूर्ण जीवन मे स्टॉक से 20% के आसपास का रिटर्न मिला

अतः आप अगर ये सोचते हैं कि मैं स्टॉक मार्केट से रातों रात अमीर बन जाऊँगा तो ये पोस्ट आपके लिए बिल्कुल नहीं है

लेकिन हाँ मैं जो कुछ आगे बताने जा रहा हूं वो आपको कुछ दिनों में एक अच्छा और कामयाब इनवेस्टर जरूर बना सकता है

तो चलिए शुरू करते हैं|स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

टेक्निकल एनालिसिस क्या होता है?

टेक्निकल एनालिसिस ही वह तरीका है, जिसकी सहायता से शेयरों की पिछली प्राइस मूवमेंट हिस्ट्री को देखकर उसकी आगे की प्राइस मूवमेंट का अंदाजा लगाया जा सकता है।

Technical analysis शब्द की शुरुआत:-

Technical Analysis का जिक्र सबसे पहले जोसेफ दे ला वेगा नाम के स्पेनिश बिजनेसमैन की 1688 में प्रकाशित बुक ”कन्फ्यूजन ऑफ कन्फ्यूजन’ में हुआ था।

परंतु टेक्निकल एनालिसिस की असली शुरुआत जापान के होमां मुण्डिका की 1755 में प्रकाशित बुक ‘द फंक्शन ऑफ गोल्ड और द थ्री मंकी ऑफ रिकॉर्ड, से टेक्निकल एनालिसिस की वास्तविक शुरुआत हुई थी।

शेयर मार्केट के 417 वर्ष के इतिहास में ट्रेडर्स ने टेक्निकल एनालिसिस को सबसे ज्यादा पसंद किया है। इस मेथड का यूज करके शेयर मार्केट से कम समय में पैसा कमाया जा सकता है।

इसके बावजूद शेयर मार्केट में निवेश करने वाले कम ही लोग हैं, जिन्हें Technical analysis का ज्ञान है।

मार्केट के सबसे महत्वपूर्ण ट्रेंड :

कैंडलस्टिक पैटर्न (Candlestick Pattern)
टेक्निकल एनालिसिस करते समय कैंडलस्टिक पैटर्न का प्रयोग सबसे ज्यादा किया जाता है। कैंडलस्टिक पैटर्न का अविष्कार जापान में हुआ था इसलिए इसे जैपनीज़ कैंडलस्टिक भी कहा जाता है। यह वर्तमान समय के प्राइस एक्शन को दर्शाता है। इसके साथ आप लैगिंग इंडिगेटर का प्रयोग करके शेयर ट्रेडिंग में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। RSI, MACD, SMA आदि Lagging Indicators हैं।

what is Japanese charts Candlesticks pattern – कैंडलस्टिक चार्ट पैटर्न क्या है

प्रत्येक शेयर की प्राइस ट्रेन्ड्स में मूव करती है, इसका सीधा सा मतलब यह है कि प्रत्येक शेयर की प्राइस एक ट्रेंड में घटती और बढ़ती है।

इस धारणा में यह माना जाता है कि शेयर की प्राइस, अभी जिस ट्रेंड में मूव कर रही है। आगे भी उसी पैटर्न में मूव करने की संभावना सबसे ज्यादा है।

मार्केट ट्रेंड्स को समझने के लिए ट्रेंड लाइन का इस्तेमाल लिया जाता है, ये ट्रेन्ड्स लाइन तीन प्रकार की होती हैं- 1. अपट्रेंड् लाइन 2. डाउनट्रेंड् लाइन 3. साइडवे ट्रेंड् लाइन

Up ट्रेंड लाइन

अपट्रेंड में शेयर की प्राइस एक पैटर्न में बढ़ती रहती है, इसमें शेयर प्राइस हायर हाई और हायर लो बनता है। यानि की शेयर का प्राइस अपने पिछले लो (low) प्राइस से नीचे नहीं जाता है। अपट्रेंड में नेक्स्ट बॉटम पिछले बॉटम से ऊपर होता है।

स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?


डाउनट्रेंड लाइन (Downtrend Line)

डाउनट्रेंड में भी शेयर की प्राइस एक पैटर्न में घटती रहती है। इसमें शेयर प्राइस लोअर लो बनाता है। यानि शेयर का प्रत्येक अगला बॉटम, पिछले बॉटम से नीचे होता है।

साइडवे ट्रेंड लाइन (Sideways trend Line)

साइडवे ट्रेंड में शेयर की प्राइस एक फिक्स रेंज में मूव करती रहती है। शेयर की प्राइस उस रेंज से ना ही ऊपर जाती है और ना ही नीचे आती है। आप पढ़ रहे हैं स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

TECHNICAL ANALYSIS TREND

सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस (Support and Resistance)
जब आप stock market में कोई पोजीशन बनाते हैं, तब टार्गेट सेट करने का सबसे अच्छा तरीका है। सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस लेवल को पहचान कर उसके अनुसार टार्गेट तय करना क्योंकि S&R स्पेसिफिक प्राइस पॉइंट होते हैं।

जहाँ पर ज्यादातर ट्रेडर शेयर खरीदना और बेचना पसंद करते हैं, सपोर्ट प्राइस पर ज्यादातर लोग शेयर खरीदना चाहते हैं और रेजिस्टेंस लेवल पर ज्यादातर लोग शेयर बेचना चाहते हैं |

स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

यह पोस्ट आपको स्टॉक का टेक्निकल एनालिसिस करने में काफी मदद करेगी जिसकी मदद से आप एक अच्छा लाभ बुक कर पाओगे इस पोस्ट में आपने सीखा स्टॉक्स का टेक्निकल एनालिसिस कैसे करें?

मैं चाहता हूं कि आप शेयर बाजार में प्रवेश करने से पहले खुद को इतना कुशल analizer बना लो कि आप भविष्य में ढेर सारा पैसा कमा सकें

और भी देखें:–

Bullish OR Bearish Trend:-bullish और bearish मार्केट क्या होता है?

Share Market ka Fundamental Analysis in hindi

P/B or P/E रेशियो क्या है?PB or PE Ratio in Hindi

टेक्निकल एनालिसिस को सरल शब्दों में क्या कह सकते है?

काफी कम समय मे स्टॉक से पैसा कमाने का एक बेहतर तरीका है

तकनीकी विश्लेषण कितनी बार सही होता है?

अगर आप सही से विशलेषण करोगे तो यह percentage 70-80% ho सकती है

भारत में नंबर 1 शेयर बाजार कौन है?

NSE ( नैशनल स्टॉक एक्सचेंज )

भारत में नंबर 1 ट्रेडिंग ऐप कौन सा है?

यह कह पाना मुश्किल है कि कौन सा app बेहतर है लेकिन मैं व्यक्तिगत तौर पर Zerodha का प्रयोग करता हूं

विश्व का सबसे बड़ा शेयर बाजार कौन सा है

न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) 11 वॉल स्ट्रीट, लोअर मैनहट्टन, न्यूयॉर्क सिटी, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित शेयर बाज़ार है।

ट्रेडिंग करने के लिए कितनी उम्र चाहिए?

ट्रेडिंग करने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top