स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है |Difference between Swing Trading vs Intraday Trading

स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है |Difference between Swing Trading vs Intraday Trading
स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है |Difference between Swing Trading vs Intraday Trading
स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है :–

ज़ब हम किसी भी कंपनी के शेयर लेते हैं और उन्हें कुछ समय होल्ड करके अच्छे लाभ पर बेच देते हैं तो उसे स्विंग ट्रेडिंग कहा जाता है|

शेयर बाजार से अच्छा पैसा कमाने के लिए स्विंग ट्रेडिंग का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है इस ट्रेडिंग में जल्द अच्छा पैसा बनाया जा सकता है|

स्विंग ट्रेडिंग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इस ट्रेडिंग को करने वाले ट्रेडर को ज्यादा समय के लिए किसी भी शेयर को होल्ड करने की जरूरत नहीं पड़ती है|

इसके अलावा ज़ब भी हम किसी शेयर को खरीदते हैं तो शेयर की डिलीवरी ली जाती है इसलिए इसे मार्केट में“डिलिवरी बेस्ड ट्रेडिंग”भी कहते हैं|

स्विंग ट्रेडिंग कैसे की जाती है :–
  • स्विंग ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास Demat Account होना अनिवार्य है|
  • यदि आपके पास Demat Account नहीं है तो आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Free में Demat Account खुलवा सकते हो|
  • Groww App
  • स्विंग ट्रेडिंग आप तभी कर पाओगे जब आपको टेक्निकल एनालिसिस की जानकारी होगी|
  • स्विंग ट्रेडिंग करने से पहले यह निहायत ही जरूरी है कि आप चार्ट पैटर्न को सीख लें अन्यथा आप मार्केट में लॉस कर बैठेंगे|
  • स्विंग ट्रेडिंग में अधिकांश volatile स्टॉक्स को ज्यादा महत्व दिया जाता है अर्थात जिनका प्राइस काफी ऊंचा नीचा होता रहता है|
स्विंग ट्रेडिंग करने के लिए कुछ जरूरी टिप्स :–

प्राइस एक्शन पैरामीटर पर निगरानी जरूर रखें|

स्विंग ट्रेडिंग में डेली मार्केट न्यूज ज्यादा प्रभाव नहीं डालती इसलिए न्यूज पर ज्यादा ध्यान ना दे|

अधिकांश मार्केट न्यूज केवल शॉर्ट-टर्म के लिए ही मार्केट पर प्रभाव डालती है|

स्विंग ट्रेडिंग करते समय चार्ट का अध्ययन जरूर करते रहे|

स्विंग ट्रेडिंग करते समय हमेशा रिस्क/रिवार्ड रेशो को ध्यान में रखें|

स्विंग ट्रेडिंग कभी भी स्मॉल केप कंपनियों में ना करें|

आप जिस भी शेयर में स्विंग ट्रेडिंग कर रहे है या करने की सोच रहे हैं उसमें अच्छा वॉल्यूम जरूर हो|

स्विंग ट्रेडिंग करने का मुख्य उद्देश्य क्या है :–

मोमेंटम ट्रेडर्स के लिए बेहतर :–

ज़ब भी लंबेसमय तक मार्केट में टिके ट्रेड का अंत या ब्रेक आउट होता है तो उस समय पर मार्केट में मोमेंटम बनता है जिसका स्विंग ट्रेडर अच्छा फायदा उठाते हैं|

टार्गेट को अचीव करना :–

एक अच्छा स्विंग ट्रेडर वही कहलाता है जो अपने कैपिटल पर अच्छा प्रॉफिट बुक करने के लिए खुद के टारगेट पर फोकस करता है|स्विंग ट्रेडिंग ट्रेडर्स को टार्गेट प्राप्त करने में काफी मदद करती है|

प्रॉफिट बुक करना :–

एक अच्छे स्विंग ट्रेडर को मार्केट में आने वाले मोमेंटम की पहचान होती है और ये मोमेंटम आने पर अपना प्रॉफिट बुक करना ही स्विंग ट्रेडर का उदेश्य होता है|

अच्छे शेयर की पहचान करना :

एक बेहतर स्विंग ट्रेडर वही है जिसे अच्छे शेयर की पहचान करना आता हो क्युकी स्विंग ट्रेडिंग में किस समय पर कौन से शेयर में ट्रेड लेना सही रहेगा यही एक स्विंग ट्रेडर का उदेश्य होता है|

Earn Profit 10% to 20% :-

एक मंझे हुए स्विंग ट्रेडर का उद्देश्य अपने कुल निवेश का 10% से 20% प्रॉफिट बुक करना होता है लेकिन ज्यादातर नए ट्रेडर सही समय पर एक्जिट नहीं कर पाते जिसका खामियाजा उन्हें लॉस से चुकाना पड़ता है|

आप पढ़ रहे हैं स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है |Difference between Swing Trading vs Intraday Trading

स्विंग ट्रेडिंग और इंट्राड़े ट्रेडिंग में क्या अंतर होता है :–
  • स्विंग ट्रेडिंग के लिए निवेशकों द्वारा अच्छी एनालिसिस की जाती है जबकि इंट्राड़े ट्रेडिंग के लिए सिर्फ पैटर्न का ज्ञान होना ही अवश्यक है|
  • स्विंग ट्रेडिंग कम समय से यानी 1 दिन से ज्यादा समय यानी कई महीनों तक भी हो सकती है जबकि इंट्राड़े ट्रेडिंग में आपको 01 ही दिन में प्रॉफिट या लॉस बुक करना पड़ता है|
  • स्विंग ट्रेडिंग में आपका capital लॉस होने के चांस बहुत कम होते हैं जबकि इंट्राड़े ट्रेडिंग में आपको कम प्रॉफिट और ज्यादा नुकसान की संभावना रहती है|
  • यदि आप किसी भी स्विंग ट्रेडिंग को लम्बे समय को ध्यान मे रखते हुए करते हैं तो आप निश्चित ही अच्छा प्रॉफिट बुक कर सकते है जबकि इंट्राड़े ट्रेडिंग सिर्फ एक दिन में की जाती है इसलिए आपको टेक्निकल एनालिसिस आना बेहद जरूरी है|
स्विंग ट्रेडिंग के फायदे क्या होते हैं :–
  • स्विंग ट्रेडिंग में आपको ज्यादा मार्केट फॉलो करने की जरूरत नहीं पड़ती|
  • स्विंग ट्रेडिंग में आप अपने हिसाब से अपने स्टॉक्स को किसी भी समय अवधि तक होल्ड कर सकते हो|
  • शेयर मार्किट से कम समय में अच्छा पैसा कमाने के लिए यह सबसे आसान तरीका माना जाता है|
  • शेयर मार्किट से पैसे कमाने के लिए स्विंग ट्रेडिंग को सबसे अच्छा तरीका माना जाता है जो कम समय में अच्छे रिजल्ट देने पर फोकस करती है|
  • स्विंग ट्रेडिंग से एक ट्रेडर अपने लिए नियमित सैलरी बना सकता है|
  • स्विंग ट्रेडिंग को हम पार्ट-टाइम जॉब की तरह भी कर सकते हैं क्योंकि इसमें हमें अपना पूरा समय देने की जरूरत नहीं पड़ती|
स्विंग ट्रेडिंग में क्या नुकसान हो सकते हैं :–
  • यदि आप शेयर मार्केट में नए हैं तो य़ह ट्रेडिंग आपके किये नुकसानदायक भी साबित हो सकती है|
  • स्विंग ट्रेडिंग करते हुए आपका शेयर में एंट्री और exit टाइम का समय बहुत स्पष्ठ होना चाहिए|
  • स्विंग ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास उचित मात्रा में केपिटल का होना निहायत जरूरी है कम पैसो से आप स्विंग ट्रेडिंग में अच्छे परिणाम नहीं ला सकते|
  • बिना टेक्निकल एनालिसिस को जाने अगर आप स्विंग ट्रेडिंग करने की सोच भी रहे हैं तो आपको भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है|

Related Post :-:

SIP क्या होती है| What is SIP,Full Form And its Importance

ट्रेडिंग में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है |Why support and Resistance is Important for Beginners|

शेयर मार्केट में कितने ट्रेडिंग ट्रेंड हैं | Important Trading Trends in Share Market

Best Tips For Traders In Hindi | शेयर बाजार के लिए टॉप 30 टिप्स |

शेयर बाजार में ICO क्या होता है |Why Initial Coin Offering is Important |

Best Perimeter For Analyzing a Compnay In Hindi|

SEBI (Security And Exchange Board Of India) In Hindi

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top