Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |

यदि आप भी शेयर मार्केट में beginners हैं और बॉन्ड के बारे में नहीं जानते तो यह ब्लॉग आपके लिए ही है जिसमें आप पढ़ेंगे Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |

Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |
Source
बॉन्ड का अर्थ (bond meaning)

बॉन्ड एक ऋण प्रमाणपत्र होता है जो किसी सरकार, निगम, या कंपनी द्वारा जारी किया जाता है । इसे आप सोचें कि यह एक उधारदारी की एक प्रकार है, जिसमें एक व्यक्ति या संगठन दूसरे व्यक्ति या संगठन को एक निश्चित अवधि तक धन उपलब्ध कराता है । इसके बदले में, ऋण प्राप्तकर्ता ऋण प्रमाणपत्र पर ब्याज के रूप में एक निश्चित धनराशि अदा करता है ।

बॉन्ड के प्रकार( types of bond)

नियत रुपये बॉन्ड –

नियत रुपये बॉन्ड एक ऐसा बॉन्ड होता है जिसमें निर्धारित समयावधि के दौरान नियमित अंतराल पर ब्याज दिया जाता है । यह एक सुरक्षित निवेश विकल्प होता है क्योंकि इसके ब्याज दर और नियमित आय के बारे में पहले से ही जानकारी होती है । इस प्रकार के बॉन्ड का मुख्य उद्देश्य ब्याज के साथ सुरक्षित निवेश करना होता है ।

नियत रसीद बॉन्ड :–

नियत रसीद बॉन्ड एक वित्तीय साधारिता होता है जिसमें निर्धारित अवधि के बाद मूल राशि के साथ ब्याज भी चुकता किया जाता है । इस प्रकार के बॉन्ड का उद्देश्य संगठन के लिए धन का इकट्ठा करना होता है ताकि वह अपने परियोजनाओं की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा कर सके ।

सरकारी बॉन्ड :–

सरकारी बॉन्ड सरकार द्वारा जारी की जाती हैं और इसलिए इनकी सुरक्षा स्तर बहुत ऊँचा होता है । ये बॉन्ड विभिन्न सरकारी परियोजनाओं की वित्तपोषण के लिए उपयोग होती हैं । यहाँ जोखिम का स्तर कम होता है इसलिए यह निवेशकों के बीच बहुत प्रसिद्ध होते हैं ।

निजी बॉन्ड :‐

निजी बॉन्ड निजी कंपनियों द्वारा जारी की जाती हैं और इसलिए इनकी सुरक्षा स्तर सरकारी बॉन्ड की तुलना में कम होता है । इन बॉन्डों का ब्याज दर आकर्षक होता है और विभिन्न निवेशकों के लिए एक विकल्प के रूप में उपलब्ध होता है|

नए निवेशक बॉन्ड में निवेश कैसे करें (Way to invest in Bonds)

बॉन्ड में निवेश करना एक सुरक्षित और आयदायक निवेश विकल्प है । बॉन्ड में निवेश करने के लिए निम्नलिखित कदम अनुसरण करें :–

1. वित्तीय लक्ष्य तय करें पहले से ही यह निर्धारित करें कि आपका वित्तीय लक्ष्य क्या है । आपके लक्ष्य के अनुसार निवेश राशि, समयगति और ब्याज दर का चयन करें ।

2. विभिन्न बॉन्ड के अध्ययन करें बॉन्ड के विभिन्न प्रकार को अच्छी तरह से समझें । सरकारी बॉन्ड, निजी कंपनी के बॉन्ड, मुद्रा बॉन्ड, आदि जैसे विभिन्न प्रकार के बॉन्ड की विशेषताओं, ब्याज दरों और सुरक्षा के मामले में जानकारी प्राप्त करें ।

3. बॉन्ड ब्रोकर चुनें एक पंजीकृत और विश्वसनीय बॉन्ड ब्रोकर का चयन करें । ब्रोकर आपको सही मार्गदर्शन और बॉन्ड खरीदने की सुविधा प्रदान करेगा ।

4. बॉन्ड की खरीदारी करें ब्रोकर के माध्यम से चयनित बॉन्ड को खरीदें । आपको bond की मूल्य, ब्याज दर और समयगति को समझने के लिए विशेष ध्यान देना चाहिए ।

5. निवेशकीय सुरक्षा का ध्यान रखें बॉन्ड निवेश करने से पहले निवेशकीय सुरक्षा की जांच करें । उपयुक्त कंपनी या सरकारी संस्थान से जुड़े बॉन्ड का चयन करें जिसमें सुरक्षा और विश्वसनीयता हो ।

6.निवेश समय और अवधि निर्धारित करें बॉन्ड निवेश के लिए सही समयगति और अवधि का निर्धारण करें । यह आपके लक्ष्यों और वित्तीय स्थिति के आधार पर निर्धारित होगा ।

7. पूर्णियोजना करें निवेश के लक्ष्य के अनुसार अपनी पूर्णियोजना करें । बॉन्ड में निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह लें और निवेश करने से पहले आवश्यक दस्तावेजों की जांच करें ।

8. निवेश का संग्रहण करें अपने बॉन्ड निवेश का संग्रहण करें और निवेश के अवधि के दौरान नियमित रूप से अद्यतन लें । निवेश के परिणामों का मूल्यांकन करें और लाभांश प्राप्त करें । बॉन्ड में निवेश करने के लिए उपरोक्त निर्देशों का पालन करें और वित्तीय सलाहकार की मदद लें ।

आप पढ़ रहे हैं Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |

बॉन्ड में निवेश करने के फायदे :–
  • 1. नियमित और स्थिर आय बॉन्ड निवेश नियमित ब्याज दर के माध्यम से स्थिर और नियमित आय प्रदान करता है । बॉन्ड पर निर्धारित ब्याज दर वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है और निवेशकों को निश्चित राशि का लाभ प्राप्त करने में मदद करती है ।
  • सुरक्षा बॉन्ड निवेश निवेशकों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है । बॉन्ड जो व्यापारिक कंपनी या सरकार द्वारा जारी किए जाते हैं, उनमें निर्धारित मूल्य, ब्याज और मुद्रा होती है । यह निवेशकों को एक सुरक्षित निवेश विकल्प प्रदान करता है ।
  • विकल्पों की विविधता बॉन्ड निवेश विभिन्न प्रकार के बॉन्डों का चयन करने की विविधता प्रदान करता है । निवेशक अपने वित्तीय लक्ष्यों और रिस्क के आधार पर विभिन्न bond चुन सकते हैं, जैसे कि सरकारी बॉन्ड, निजी कंपनी के बॉन्ड, उच्च ब्याजदार बॉन्ड आदि ।
बॉन्ड में निवेश करने के नुकसान :–
Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |
Source
  • ब्याज दर की परिवर्तन बॉन्ड के ब्याज दर में परिवर्तन होने की संभावना होती है । यदि ब्याज दरों में कमी होती है, तो निवेशकों को कम आय प्राप्त हो सकती है ।
  • बंधकता कई बॉन्डों में निवेशकों को निवेश की अवधि के दौरान राशि को बंधित रखना पड़ सकता है । इसलिए, यदि आपको आपकी निवेश राशि की आवश्यकता होती है, तो इसे प्राप्त करने में कठिनाई हो सकती है ।
  • मूल्यांकन का जोखिम बॉन्डों की मूल्य में उतार- चढ़ाव हो सकता है । बाजार के परिस्थितियों के कारण बॉन्डों की मूल्य में परिवर्तन हो सकता है, जिससे निवेशकों को नुकसान भी हो सकता है ।
  • इन्फ्लेशन का प्रभाव यदि इन्फ्लेशन बढ़ जाता है, तो बॉन्डों की मूल्य पर असर पड़ सकता है । यह निवेशकों को कम वापसी प्रदान कर सकता है और निवेश के मूल्य को कम कर सकता है ।
  • निवेशक की समयगति बॉन्ड इनवेस्ट की समयगति लंबी होती है और निवेशकों को धीरे- धीरे वापसी प्राप्त होती है । यदि निवेशकों को जल्दी नकदी की आवश्यकता होती है, तो यह निवेशकों के लिए असुविधाजनक हो सकता है ।
बॉन्ड और स्टॉक्स के अलग- 2 फायदे –
बॉन्ड के फायदे :–
  • नियमित और स्थिर आय बॉन्ड निवेश नियमित ब्याज दर के माध्यम से स्थिर और नियमित आय प्रदान करता है । यह निवेशकों को निश्चित राशि का लाभ प्राप्त करने में मदद करता है और सुरक्षित निवेश विकल्प प्रदान करता है ।
  • कम रिस्क बॉन्ड निवेश काफी सुरक्षित होता है क्योंकि यह ब्याज दर और मूल्य पर निर्धारित होता है । इसके साथ ही, बॉन्डों की विभिन्न श्रेणियों में वित्तीय सुरक्षा पर निगरानी होती है ।
  • विभिन्न विकल्प बॉन्ड निवेश में विभिन्न विकल्प मौजूद होते हैं जैसे कि सरकारी बॉन्ड, निजी कंपनी के बॉन्ड, मुद्रा बॉन्ड, सामान्य बॉन्ड आदि । निवेशक अपने वित्तीय लक्ष्यों और रिस्क प्रोफाइल के आधार पर इनमें से उचित चुनाव कर सकते हैं ।

स्टॉक मार्केट की लाइव अपडेट के लिए आप इन्हें चेक कर सकते हैं….

Moneycontrol

स्टॉक के फायदे :–
  • महान उपार्जन की संभावना स्टॉक निवेश में निवेशकों को बड़ी मात्रा में उपार्जन की संभावना होती है । एक सफल निवेश के माध्यम से, निवेशक उच्च लाभ कमा सकते हैं ।
  • मालिकाना हक स्टॉक निवेशकों को कंपनी के लिए मालिकाना हक प्राप्त होता है । वे मतदाताओं के रूप में कंपनी के निर्धारित निर्णयों में भाग ले सकते हैं और लाभांश प्राप्त कर सकते हैं ।
  • लिक्विडिटी स्टॉक बाजार में निवेश की लिक्विडिटी अधिक होती है । निवेशक अपने निवेश को आसानी से खरीद और बेच सकते हैं और जरूरत के अनुसार नकदी में परिवर्तित कर सकते हैं ।
  • आवंटन का स्वतंत्रता स्टॉक निवेशकों को अपने निवेश को आवंटित करने में स्वतंत्रता मिलती है । वे अपने निवेश को विभिन्न कंपनियों में विभाजित कर सकते हैं और अपनी पसंद के अनुसार निवेश कर सकते हैं ।
  • मैं उम्मीद करता हूं आपको यह ब्लॉग पसंद आया होगा Bonds And Its Importance In Share Market | बॉन्ड क्या होते हैं और क्यों जरूरी है |

शॉर्ट सेलिंग क्या होती है |Why Short Selling is Not Important for Begginers|

ऑप्शन ट्रेडिंग क्या होती है |Why Option Trading is Important |

Is Stock Market a Gambling | क्या शेयर बाजार एक जुआ है |

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top