Top Small cap stocks for long term in Hindi

य़ह ब्लॉग खासतौर पर उन लोगों के लिए होने वाला है जो कम निवेश से ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं यानी जो काफी अच्छा रिटर्न चाहते हैं | तो आपके लिए ही य़ह पोस्ट है Top Small cap stocks for long term in Hindi

नमस्कार दोस्तों!!!

अगर आप भी कम समय मे ज्यादा रिटर्न चाहते हैं तो य़ह ब्लॉग अंत तक पढ़ें जिससे आप उन स्टॉक्स के बारे मे जान पाएंगे जो पिछले कुछ समय से काफी ज्यादा रिटर्न दे रहे हैं |

लेकिन अगर आप एक बात साफ़ तरह से समझ लें तो ज्यादा बेहतर रहेगा

ज्यादा रिटर्न यानी ज्यादा रिस्क

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो रिस्क लेने से नहीं डरते तो जनाब य़ह पोस्ट आपके लिए ही है |

स्मॉल केप स्टॉक्स की परिभाषा:-

जिस कंपनी की मार्केट वैल्यू 2000 करोड़ से कम होती है उन्हें स्मॉल केप कंपनिया कहते हैं |


साधारण शब्दों मे स्मॉल कैप स्टॉक छोटी कंपनियों के शेयर होते हैं जिनका स्टॉक एक्सचेंजों पर नियमित रूप से ट्रेड होता है.


ये स्मॉल कैप स्टॉक ऐसे इनवेस्टर के लिए बेहतर होते हैं जो अपने इनवेस्ट पर उच्च रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं. ये स्टॉक छोटी मार्केट केप वाली नई कंपनियों में से हैं. जिसके कारण, वे बहुत अस्थिर हैं और उच्च जोखिम लेने वाले निवेशकों के लिए अच्छे हैं. इन्वेस्टर अपने portfolio में वैरायटी लाकर और बाजार के हिसाब से निवेश जोड़कर स्मॉल-कैप के ज्यादा जोखिम से बच सकते हैं.


स्मॉल-कैप स्टॉक की मुख्य विशेषताएं:
Top Small cap stocks for long term in Hindi
Top Small cap stocks for long term in Hindi


स्मॉल-कैप स्टॉक में निवेश करने के इच्छुक निवेशकों को निम्नलिखित मुख्य विशेषताओं को जान लेना चाहिए.

बहुत ज्यादा अस्थिर:-
अगर शेयर मार्केट के उतार-चढ़ाव से जो सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं, वो small cap स्टॉक्स ही होते हैं . जब मार्केट up होती है तो ये स्टॉक भी अच्छा प्रदर्शन करते हैं और मार्केट के नीचे होने पर ये भी कम प्रदर्शन करते हैं.


हाई रिस्क
स्मॉल-कैप शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव के कारण हमेशा हाई रिस्क वाले रहते हैं.


हाई रिटर्न:
स्मॉल-कैप स्टॉक 20 गुना से भी ज्यादा रिटर्न उत्पन्न करने की क्षमता रखते हैं जिनके कुछ उदाहरण हम पिछले वर्षों में देख सकते हैं |


Invest की लागत:
अलग अलग दलालों के बीच निवेश शुल्क भी अलग-अलग होते हैं। मुख्य निवेश शुल्क के अतिरिक्त, निवेशकों को इन्वेस्टमेंट पर व्यय अनुपात का भी वहन करना होगा.


इन्वेस्टमेंट की तय सीमा:

स्मॉल-कैप एक ऐसा इक्विटी निवेश है जो लंबे समय में निवेश करते हुए ही बेहतर प्रदर्शन करता है.


मुख्य कर :
शेयरों को भुनाते समय जनरेट रिटर्न पर लाभ पूँजी टैक्सेशन नियमों के अनुसार कम समय का कैपिटल गेन और लंबे समय का कैपिटल गेन के रूप में कुछ लगाया जाता है|


स्मॉल-कैप में निवेश करने से पहले जानने वाली महत्वपूर्ण बातें:-


कंपनी के पूर्व में किए हुए प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए अक्सर स्मॉल-कैप कंपनियों की स्थिरता का निर्णय लिया जाता है. और पूर्व के प्रदर्शन के माध्यम से, हमारा मतलब 6-7 वर्षों का प्रदर्शन है.


स्मॉल-कैप कंपनियां स्थिर नहीं होती हैं, इसलिए bottom up निवेश दृष्टिकोण उनके लिए उपयोगि काम करता है.


Small cap में invest करने का मुख्य उद्देश्य जबरदस्त रिटर्न या औसत से अधिक मार्केट रिटर्न प्राप्त करना है.


निवेश करने से पहले कंपनी का fundamental analysis,उसकी स्थिरता,प्रबंधन की क्षमता, आदि कारकों पर विचार अवश्य करें. इसका उद्देश्य next मल्टी-बैगर स्टॉक को खोजना है.


उनके fundamental मॉडल के जोखिम पर विचार अवश्य करें. कई बिज़नेस बाकी अन्यों की तुलना में ज्यादा जोखिम भरे होते हैं, इसलिए ऐसे स्टॉक्स से बचें |


खराब इकनॉमिक परिस्थितियों के दौरान कंपनी की नींव की सुदृढ़ताका परीक्षण अवश्य करें


Growth Margin और Profit margin इसकी शेयर मूल्य के future trajectory के दो मुख्य निर्धारक हैं.
और फिर अंत में, स्टॉक की तरलता और जोखिम के आधार पर विचार करें. अगर लिक्विडिटी पर्याप्त नहीं है, तो स्मॉल-कैप शेयर से बचना सबसे सबसे बेहतर निर्णय हो सकता है |


स्मॉल-कैप स्टॉक में invest करने के लाभ:-



स्मॉल-कैप कंपनियों में बेहतर ऑर्गेनिक विकास दर बेहतर है

स्मॉल-कैप स्टॉक अक्सर कम पहचान वाले और कम कीमत वाले होते हैं. इसलिए, कम कीमत पर गुणवत्ता वाले स्टॉक का लाभ उठाने की संभावना है.

मार्केट तंत्र बड़े निवेशक को स्टॉक की कीमत को बढ़ाने से रोकता है और छोटे निवेशक को उचित कीमत पर स्मॉल-कैप शेयर खरीदने की अनुमति देता है.

कई बार small cap स्टॉक्स उम्मीद से ज्यादा रिटर्न दे देते हैं

नुकसान:-

ये स्टॉक मार्केट जोखिमों के लिए संवेदनशील हैं.

ये लार्ज-कैप शेयरों की तुलना में कम लिक्विड होते हैं.
स्मॉल-कैप स्टॉक अक्सर कम पहचान वाले और कम कीमत वाले होते हैं. इसलिए, कम कीमत पर गुणवत्ता वाले स्टॉक का लाभ उठाने की संभावना है.

संभावित स्टॉक खोजने के लिए उन्हें समय और व्यापक अनुसंधान की आवश्यकता होती है.

कई बार आपका चुना स्टॉक बहुत कम रिटर्न दे देता है जिससे आपको हानि झेलनी पड़ती है |

Small cap में मार्केट रिस्क का खतरा बना रहता है |

बेस्ट small cap funds for long term




आइए नजर डालते हैं ऐसे top पाँच Small Cap Funds पर नजर


1. Axis Small Cap Fund Direct-Growth


ऐक्सिस Mutual फंड की य़ह Small Cap Fund सबसे बेहतर फंड में से एक है. पिछले तीन सालों में इस ऐक्सिस Mutual फंड ने निवेशकों को 35 % से भी ज्यादा का औसत रिटर्न दिया है. और इसकी शुरुआत 2013 से इस फंड ने तक़रीबन 28 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है.



पिछले 1 साल में Axis Small Cap Fund ने 63 फीसदी का रिटर्न दिया है.

3 सालों में 30 फीसदी का रिटर्न दिया है.

5 सालों में इस फंड ने 30.3 फीसदी का रिटर्न इनवेस्टर्स को दिया है.
इसकी net Asset Value 10 अप्रैल 2023 को 70 रुपये है


2. Kotak Small Cap mutual fund



Kotak का Small Cap mutual Fund भी एक बेहतर विकल्प है. जब से यह मार्केट में आया हुआ है तब से लेकर आज तक इसने 22 फीसदी का सलाना औसतन रिटर्न दिया है.



1 साल में इस Kotak Small Cap Fund ने 78.45 फीसदी का रिटर्न दिया है.

वहीं 03 सालों में कोटक फंड ने 35.73 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दिया है.

वहीं 05 सालों में भी इस फंड ने 26 फीसदी का रिटर्न अपने निवेशकों को दिया है.

11 अप्रैल 2023 को इसका NAV( नेट ऐसेट वैल्यू) 186.62 रुपये प्रति यूनिट है.


3. Nipon India Small Cap Fund – Direct

इस स्मॉल cap फंड की गिनती भी टॉप के स्मॉल कैप फंड्स में की जाती है क्योंकि इस फंड ने अपने लॉन्च से आज तक 26 फीसदी का औसत रिटर्न दिया है.



1 साल में Nippon Small Cap Fund ने 78.94 फीसदी का रिटर्न हमें दिया है.

वहीं पिछले 03 सालों में इस फंड ने हमें 30.33 फीसदी का रिटर्न प्रदान किया है.

वहीं पिछले 05 सालों में इस फंड ने हमें 25.10 फीसदी का रिटर्न हमें दिया है जो काफी बेहतर माना जाना चाहिए

11 अप्रैल 2023 को इस फंड का NAV( Net Asset Value) 92.24 रुपये प्रति यूनिट है.


4. Quant Small Cap Fund – Direct Plan


इस Direct Plan की गिनती भी सबसे बेह्तरीन स्मॉल कैप फंडस में की जाती है क्योंकि इस फंड ने हमें साल में करीब 99.99 फीसदी का रिटर्न दिया है.



1 साल में इस फंड ने 96.68 फीसदी का रिटर्न दिया है.

वहीं सालों में इस फंड ने 38.54 फीसदी का रिटर्न दिया है.

05 सालों में फंड ने 22.30 फीसदी का रिटर्न अपने निवेशकों को मिला है.

11 अप्रैल 2023 को इसका NAV( Net Asset Value) 145.11 रुपये प्रति यूनिट है.


5. Tata Small Cap Fund – Direct Plan


Tata Small Cap Fund ने भी हाल के वर्षों में अपने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है. इस फंड ने एक साल में तक़रीबन.56 फीसदी का रिटर्न दिया है और मार्केट में आने के बाद से औसत 32.49 फीसदी का रिटर्न दिया है.



1 साल में Tata Small Cap Fund – Direct Plan ने 77.55 फीसदी का रिटर्न दिया है.

03 सालों में इस फंड ने हमें.50 फीसदी का रिटर्न दिया है.

11 अप्रैल 2023 को इस फंड का NAV( Net Asset Value) 24.30 रुपये प्रति यूनिट है

तो ये थे 2023 के सबसे बेह्तरीन Small Cap Fund

आशा करता हूं आपको ये पोस्ट ठीक लगी होगी

अगर आप इन स्टॉक्स से हमेशा update रहना चाहते हैं तो नीचे दी गयी साइट पर कभी भी चेक कर सकते हैं

Money control

आपने पढ़ा Top Small cap stocks for long term in Hindi उम्मीद करता हूं आप कुछ नया सीखे होंगे

संबधित पोस्ट पढ़ें:-

List of NSE Nifty 50 Stocks

Top Banking Sector Stocks in India

Tata vs Mahindra में कौन बेहतर है?

शेयर बाजार में ROE और ROCE क्या है ?

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top