What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

जैसा कि आपको Title से स्पष्ट हो चुका होगा कि आज हम जानने वाले हैं What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

इस बारे में आप मे से कुछ लोग शायद जानते भी होंगे वहीं जो लोग नये हैं उनके लिए ये पोस्ट काफी महत्वपूर्ण होने वाली है..

नमस्कार दोस्तों!!!!

ये पोस्ट मेरे लिए काफी खास है क्योंकि ये मेरी 50th पोस्ट है अगर आपका प्यार और आशीर्वाद ऐसा ही बना रहा तो जल्द ही यह आंकड़ा 100 को पार कर जाएगा….

What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|
Share Market can make you A billionare

तो चलिए शुरू करते हैं शेयर बाजार से जुड़ा एक और टॉपिक What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

इस पोस्ट में अंत तक बने रहे क्योंकि अंत तक आप बहुत ही शानदार सीखने वाले हैं….

Table of Contents

✍️✍️ब्लू चिप शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किसने और कब किया :‐

1923 में Oliver Gingold ने सर्वप्रथम ब्लू चिप शब्द का प्रयोग किया था।

Oliver gingold अमेरिका का एक जाना माना पत्रकार और लेखक था |

✍️✍️ब्लू चिप स्टॉक्स क्या होते हैं :–

ब्लू चिप कम्पनियाँ ऐसी कम्पनियाँ होती है जिन्होंने पिछले कई सालों से मार्केट में बेहतरीन प्रदर्शन किया हो |

इनके शेयर प्राइस में ज्यादा गिरावट देखने को नहीं मिलती ये लगातार एक रफ्तार से उपर की और बढ़ते रहते हैं |

इन कंपनियों के डूबने का चांस बहुत कम होता है या यूं कहें कि बिल्कुल भी नहीं होता |

भारत में रिलायंस, टाटा जैसी कम्पनियाँ इस सूची में आती हैं |

इन कंपनियों का मार्केट केप काफी ज्यादा होता है और ये कम्पनियाँ अपनी अपनी फील्ड की चैंपियंस होती है |

✍️✍️आखिर ब्लू चिप्स नाम कैसे पड़ा :–

ब्लू चिप शब्द को पोकर नामक गेम से लिया गया है जिसमें तीन तरह की चिप होती है लाल, सफेद और ब्लू | और इन सभी चिप्स में ब्लू की कीमत सबसे ज्यादा होती है |

इसलिए माना जाता है कि gingold ने यही से ऊंची कीमत वाले शेयर को ब्लू चिप नाम से संबोधित किया होगा |

✍️✍️ब्लू चिप स्टॉक्स की विशेषताएं :–

1. स्थिर कम्पनियां :–

ब्लू चिप कम्पनियां काफी बड़ी होती है इसलिए स्थिर भी होती है साथ ही इनके डूबने के चांस भी बहुत ही कम होते हैं |

ये कम्पनियां खुद को आर्थिक रूप से इतना मजबूत कर चुकी होती है कि max दुनिया इन्हें अपना पैसा देने से संकोच नहीं करती |

2. विश्वसनीय इन्वेस्टमेंट ऑप्शन :–

ब्लू चिप स्टॉक्स को सबसे ज्यादा विश्वसनीय माना जाता है क्योंकि ये एक लार्ज केप कंपनी होती है जिसकी मार्केट केप 10,000 करोड़ से भी अधिक होती है |

इसलिए आप इन पर बिना झिझक के भरोसा कर सकते हैं|

भारत में Infosys,HUL आदि कम्पनियां इसी श्रेणी में आती हैं |

3. NSE और BSE में लिस्टेड होती है :–

ब्लू चिप कम्पनियाँ शेयर मार्केट के प्रमुख सूचकांकों जैसे सेंसेक्स और निफ्टी में लिस्टेड होती है. ब्लू चिप कंपनियों के नाम आपको BSE के इंडेक्स सेंसेक्स 30 और निफ्टी 50 में मिल जाएंगे|

इन कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, एचडीएफसी बैंक और एशियन पैंट आदि शामिल हैं. वर्तमान में ये स्टॉक प्रमुख इंडेक्स और म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो में सबसे विश्वसनीय स्टॉक्स हैं |

4. अपनी फील्ड की टॉप कम्पनियाँ होती है :–

ब्लू-चिप कम्पनियां अपनी-अपनी फील्ड की लीडिंग कम्पनियाँ होती हैं चाहे मार्केट केप हो चाहे सैल हो चाहे आकार हर क्षेत्र मे ये टॉप पर होती है |

जैसे रिलायंस,इन्फोसिस, HCL और HUL

5. बारगेनिंग पॉवर :–

ब्लू चिप कंपनियों की बारगेनिंग पॉवर ज्यादा होती है क्योंकि ये कम्पनियाँ अपनी फील्ड की सबसे मजबूत कम्पनियाँ होती है |यही कारण है कि यह कंपनियां काफी मजूबती के साथ अपनी डील करती हैं. जिसकी वजह से इन कंपनियों का रेवेन्यू बढ़ता है|

6. वित्तीय मजबूती :-

ब्लू चिप कम्पनियाँ कम कर्ज, बेहतर बैलेंस शीट और जरूरी कैश रिजर्व के साथ वित्तीय तौर पर मजबूत होती है. यह वित्तीय स्थिरता उन्हें R&D, कैपिटल एक्सपेंडिचर और, मजबूत मार्केटिंग करने में मदद करती है|

7. बाजार के उतार-चढ़ाव झेलने में सक्षम होती है :–

ब्लू चिप कम्पनियाँ बाजार में हो रहे उतार चढाव झेलने में पूर्ण रूप से सक्षम होती है |

क्यूंकि इन कंपनियों के पास एक मजबूत Capital,एक मजबूत कस्टमर सपोर्ट और इस तरह की नाजुक परिस्थितियों से गुजरने के लिए मजबूत कैश रिजर्व होता है |

यहां तक कि बाजार में जब उथल-पुथल होती है तो ये कम्पनियाँ और ज्यादा मजबूती से अपने आप को साबित करके दिखाती है |

8. लगातार बेहतरीन प्रदर्शन :

ब्लू-चिप शेयर लगातार एक समान प्रदर्शन करते हैं तथा अपने निवेशकों को लगातार बेहतर रिटर्न और डिविडेंड देते रहते हैं |

ये शेयर मार्केट में कभी भी लंबे समय तक खराब प्रदर्शन नहीं करते |

9. कम जोखिम की वज़ह से निवेशकों के लिए सैफ ऑप्शन:–

ज्यादातर ब्लू-चिप कंपनियों को कम जोखिम वाली कंपनियों की श्रेणी में रखा जाता है. रिस्क ही तो एक मुख्य पहलू है जो लोगों को शेयर बाजार में निवेश करने से रोकता है|

लेकिन ब्लू चिप स्टॉक इसी जोखिम के बारे में चिंतित होने वाले,विशेष रूप से बाजार में उतार-चढ़ाव के बारे में चिंतित रहने वाले लोगों के लिए आकर्षक हैं|

10. ब्लू चिप स्टॉक्स के डूबने के चांस 0% होते हैं :–

ब्लू चिप स्टॉक्स हाई केपिटल वाले स्टॉक्स होते हैं |

ये कम्पनियां वित्तीय रूप से इतनी मजबूत होती है कि इनके दिवालिया होने का चांस 0% होता है इसलिए इन स्टॉक्स पर भरोसा किया जा सकता है |

रिलायंस,टाटा और HDFC इसी श्रेणी के स्टॉक्स में आते हैं |

आप पढ़ रहे हैं What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

✍️✍️ब्लू चिप स्टॉक्स के नुकसान :

1. बेंचमार्क को बीट करने में असफल :–

ब्लू चिप स्टॉक्स मार्केट इंडेक्स चाहे वो Nifty हो चाहे सेंसेक्स अधिकांश समय उनसे कम लाभ ही कमा कर देते हैं |

कई बार मार्केट में कुछ स्टॉक्स बहुत ही अच्छा प्रदर्शन करते हैं और 15-18% रिटर्न अपने निवेशकों को प्रदान करते हैं लेकिन ब्लू चिप स्टॉक्स अपने कम रिस्की मिजाज के कारण हमेशा 10-12% के रिटर्न पर ही रुके रहते हैं जोकि इसकी एक कमी मानी जाती है |

2. नाममात्र डिविडेंड :‐

ब्लू चिप स्टॉक्स भले ही डिविडेंड देते हो लेकिन इनके द्वारा दिया गया डिविडेंड नाममात्र होता है |

ये स्टॉक्स साल में आपकी इन्वेस्टमेंट के हिसाब से डिविडेंड देते हैं मान लो आपने 01 लाख इनवेस्ट किया है तो आपको ये साल का 1000 रुपये तक का ही डिविडेंड देते हैं जो कोई ज्यादा बेहतर नहीं है |

3. सामान्य रिटर्न :–

कई बार मार्केट काफी हाई चला जाता है और कई स्टॉक्स अपने निवेशकों को 15-18% तक का बेहतरीन रिटर्न देते हैं लेकिन ऐसे मे भी ये ब्लू चिप स्टॉक्स सामान्य 10-12% का ही रिटर्न देते हैं |जो इसकी कमी को जाहिर करता है |

✍️✍️ब्लू चिप स्टॉक्स में कैसे निवेश करें :–

ब्लू चिप स्टॉक में निवेश करने के लिए सबसे पहले एक डिमैट अकाउंट खुलवाना पड़ता है|

1.भारत का सबसे बेस्ट ब्रोकर Zerodha को माना जाता है जिसके वर्तमान मे 60 लाख से ज्यादा सक्रिय यूजर हैं जोकि किसी एक ब्रोकर के सबसे ज्यादा है |

2. Zerodha की official website पर जाकर अपना Demat Account खुलवाए |

3. Demat Account खुलवाने के लिए आपके पास PAN Card और मोबाइल नंबर का आधार से लिंक होना अनिवार्य है |आप नीचे दिए गए लिंक पर जाकर भी Demat account खुलवा सकते हैं…..

Zerodha

वहीं यदि आप नए हैं और Demat Account क्या होता है नहीं जानते हैं तो नीचे दिए लिंक पर सम्पूर्ण जानकारी ले सकते हैं :–

Demat Account क्या होता है?

जीरौधा | Best Discount Broker

4. अपनी रिसर्च करें और अपने हिसाब से Blue Chip कंपनियों के किसी भी स्टॉक का चुनाव करें|

5. उसके पश्चात Zerodha के Kite App पर जाकर SIP के माध्यम से आप हर महीने एक निश्चित धन राशि का निवेश कर सकते है|

इसके अलावा होम लोन, कार लोन, mutual fund में निवेश की भी सुविधा देता है |

6. इसके लिए आप सबसे पहले Orders वाले ऑप्शन में जाकर > SIP पर क्लिक करें और फिर > New SIP Create करें|

7. ध्यान रहे आप Kite by Zerodha पर अधिकतम 20 SIP ही Create कर सकते हैं वहीं Zerodha आपको GTT का ऑप्शन उपलब्ध करवाता है जो Zerodha का master shot कहा जाता है |

8. स्टॉक खरीदने के बाद आप उस पर निरंतर नज़र रख कर,अपने अनुसार मुनाफ़ा मिलने पर उसे बेच सकते है|

आप पढ़ रहे हैं What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

✍️✍️ब्लू चिप स्टॉक्स vs पेनी स्टॉक :–

Difference No.1

ब्लू चिप स्टॉक्स एक लार्ज केप कंपनी होती है जबकि पेनी स्टॉक्स बिल्कुल छोटी कंपनी होती है |

Difference No.2

ब्लू चिप कंपनी में रिस्क बहुत कम होता है लेकिन पेनी स्टॉक्स काफी रिस्की होते हैं |

Difference No. 3

ब्लू चिप कम्पनियां काफी पुरानी और सुदृढ़ होती है वहीं पेनी स्टॉक्स मार्केट में नए होते हैं और इनमें काफी उथल-पुथल रहती है |

Difference No. 4

ब्लू चिप कम्पनियां डिविडेंड देती है जबकि पेनी स्टॉक्स ऐसी कोई सुविधा नहीं देते |

Difference No. 5

ब्लू चिप कम्पनियाँ लगभग हर साल निश्चित रिटर्न देते हैं जबकि पेनी स्टॉक्स कई बार बेहतर रिटर्न देते हैं तो कई बार बिल्कुल ही कम |

Difference No.6

ब्लू चिप कंपनी के डूबने का चांस नाममात्र होता है जबकि पेनी स्टॉक्स वाली कंपनी कभी भी बंद हो सकती है और अपने निवेशकों का पैसा लेकर भाग सकती है |

Difference No.7

ब्लू चिप स्टॉक्स लोंग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए सबसे सुरक्षित विकल्प होता है जबकि पेनी स्टॉक्स intraday trading के लिए बेहतर रहते हैं |

✍️✍️किन लोगों के लिए ब्लू चिप स्टॉक्स बेहतर विकल्प हैं :–

1. इन्वेस्टमेंट के लिए :–

जो लोग मार्केट में ट्रेडिंग से ज्यादा इन्वेस्टमेंट को अहमियत देते हैं उनके लिए ब्लू चिप स्टॉक्स सबसे बेहतर विकल्प है |

क्योंकि ये ब्लू चिप कम्पनियाँ आर्थिक रूप से इतनी बड़ी और मजबूत होती है कि इनके दिवालिया होने का चांस बहुत ही कम होता है |

2. कम रिस्क लेने वालों के लिए :–

जो लोग मार्केट के रिस्की मिजाज से बचना चाहते हैं और सामान्य रिटर्न से भी खुश रह सकते हैं उनके लिए ब्लू चिप स्टॉक्स बेहतर विकल्प हो सकते हैं |

क्योंकि ये कम्पनियां कम रिस्क पर ही हमेशा दांव खेलती है और इनकी कस्टमर बेस इतनी मजबूत होती है कि इनके भविष्य में और ज्यादा ग्रोथ के चांस रहते हैं |

3. स्टॉक मार्केट में सुरक्षित खेलने वालों के लिए:–

जो लोग नये इनवेस्टर हैं और किसी के कहने पर शेयर मार्केट में निवेश करने की सोच चुके हैं उनके लिए मेरी एक व्यक्तिगत सलाह है कि शुरुआत में ब्लू चिप स्टॉक्स की और ही जाएं |

क्योंकि ये स्टॉक्स सबसे ज्यादा विश्वसनीय होते हैं भले ही कम रिटर्न दे लेकिन रिस्क भी उतना ही कम होता है |

4. Long Term Investors के लिए :–

जो लोग नये इनवेस्टर हैं या शेयर मार्केट में किसी कारणवश ज्यादा समय नहीं देना चाहते उनके लिए ब्लू चिप स्टॉक बेहतर प्रदर्शन करके दे सकते हैं |

आप इन स्टॉक्स में पैसा लगाकर भूल सकते हैं ये स्टॉक्स आपके लिए अपने आप काम करते रहेंगे और कुछ सालों में ही आपके पैसे को दोगुना कर आपको वापिस कर देंगे |

इसलिए लोंग टर्म इनवेस्टर के लिए ब्लू चिप स्टॉक्स बेहद मददगार हो सकते हैं |

5. कम रिस्क कम रिटर्न की पॉलिसी अपनाने वालों के लिए:–

जो लोग सोचते हैं कि हमें भले ही रिटर्न कम मिले लेकिन हम अपने पैसे को खोना नहीं चाहते तो उनके लिए भी ब्लू चिप स्टॉक्स संजीवनी का काम कर सकते हैं जो ना ही अपने इनवेस्टर के पैसे को मरने देते हैं बल्कि उसमे धीरे-धीरे इजाफ़ा करते रहते हैं |

आप पढ़ रहे हैं What is Blue Chip Stocks in share market | ब्लू चिप्स स्टॉक्स क्या होते हैं|

✍️✍️भारत के Top 10 ब्लू चिप स्टॉक्स :–

टॉप ब्लू चिप कंपनियों के बारे मे जानने से पहले यदि आप मार्केट केप के बारे मे नही जानते तो नीचे दिए लिंक पर जाकर एक बार अवश्य पढ़ें :–

मार्केट कैपिटलाइजेशन क्या होता है |What is The Meaning of Market Capitalization |

1. रिलायंस इंडस्ट्रीज :–

रिलायंस की स्थापना और संस्थापक :–

1960 में धीरूभाई अम्बानी और चंपकलाल दमानी ने |

रिलायंस का मार्केट केप यानी कुल कीमत:‐

17,17,618 करोड़ INR. (22 जुलाई 2023)

रिलायंस के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 2539.

रिलायंस के प्रोडक्ट :–

रिलायंस फ्रेश, रिलायंस फुटप्रिंट, रिलायंस टाइम आउट, रिलायंस डिजिटल, रिलायंस वेलनेस, रिलायंस ट्रेंड्स, रिलायंस ऑटोजोन, रिलायंस सुपर, रिलायंस मार्ट, रिलायंस आईस्टोर,

2. HDFC Bank

HDFC की स्थापना और संस्थापक :–

अगस्त 1994, Bibu Barghis ने |

HDFC का मार्केट केप :–

12,63,108 करोड़

HDFC के एक शेयर की कीमत :–

₹1676

HDFC द्वारा दी जाने वाली सेवाएं :–

कार लोन,होम लोन,वृद्ध पेंशन,mutual fund इत्यादि |

3. टाटा कंसल्टेंसी (TCS)

TCS का स्थापना वर्ष और संस्थापक :–

1968 में JRD Tata ने की |

TCS का मार्केट केप :–

12,32,478 करोड़

TCS के 01 शेयर की कीमत :–

₹3368

TCS के प्रोडक्ट :–

TCS ADD™
TCS BaNCS™
TCS Intelligent Urban Exchange™
TCS TwinX™

4. ICICI बैंक

ICICI बैंक की स्थापना और संस्थापक :–

05 जनवरी 1955 भारत, अमेरिका और इंग्लैंड की सरकार द्वारा |

ICICI Bank का मार्केट केप :–

6,97,618 करोड़ |

ICICI बैंक के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 997

ICICI बैंक द्वारा दी जाने वाली सेवाएं :–

आईसीआईसीआई बैंक द्वारा बचत खाते, सावधि जमा (एफडी), आवर्ती जमा (आरडी), कार ऋण, दोपहिया वाहन ऋण, गृह ऋण, क्रेडिट कार्ड और व्यक्तिगत ऋण जैसे कई उत्पाद पेश किए जाते हैं।

5. हिन्दुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड (HUL)

HUL की स्थापना और संस्थापक :–

लीवर ब्रदर्स द्वारा 1933 में |

HUL का मार्केट केप :–

6,11,834 करोड़ |

HUL के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 2604

HUL के प्रोडक्ट :–

1.Lux
2.Lifeboy
3.Surf Excel
4.Rin Wheel
5.Ponds
6.clinic Plus
7.Sunsilk
8.Horlicks
9.Pepsodent
10.Glow & Lovely
6. ITC लिमिटेड

Indian Tobbaco Company की स्थापना और संस्थापक :–

24 अगस्त 1910 ब्रिटिश सरकार द्वारा |

ITC का मार्केट केप :–

6,11,016 करोड़ |

ITC के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 490

ITC के प्रोडक्ट :–

1. Cigarette 
2. Tobbaco
3. Classmate copy
4. Papercraft
5. Agarbati
6. सुरक्षा माचिस
7. Packaging items
7. इन्फोसिस Ltd.

इन्फोसिस की स्थापना और संस्थापक:–

02 जुलाई 1981, N.R नारायण मूर्ति ने स्थापना की |

इन्फोसिस का मार्केट केप :–

5,52,640 करोड़

इन्फोसिस के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 1332

इन्फोसिस के प्रोडक्ट :–

यह व्यापार परामर्श, सूचना प्रौद्योगिकी और आउटसोर्सिंग जैसी सेवाएं प्रदान करती है.

8. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI)

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना और संस्थापक:

01 जुलाई 1955 में भारत सरकार द्वारा |

SBI का मार्केट केप :–

5,48,953 करोड़ |

SBI के 01 शेयर की कीमत :

₹ 615

SBI द्वारा दी जाने वाली सेवाएं :–

भारतीय स्टेट बैंक देश के आम नागरिकों को 3.00% -7.10% प्रति वर्ष तथा वरिष्ठ नागरिकों को 3.50% -7.60% प्रति वर्ष की ब्याज़ दर पर एफडी योजनाएं प्रदान करता है, जिसकी अवधि 7 दिनों से लेकर 10 साल तक होती है।

इसके अलावा ये होम लोन, कार लोन और mutual fund में निवेश की सुविधा भी देते हैं |

9. कोटक महिंद्रा बैंक

कोटक बैंक की स्थापना और संस्थापक :–

1986 में आनंद महिंद्रा द्वारा |

कोटक का मार्केट केप :–

3,91,521 करोड़ |

कोटक महिंद्रा बैंक के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 1970

कोटक द्वारा दी जाने वाली सेवाएं :–

कोटक महिंदा बैंक अपने ग्राहकों को कई मुख्य सुविधाएं उपलब्ध करवाता है जैसे कि :– चालू खाता , बचत खाता, बिजनेस खाता, क्रेडिट कार्ड, बिजनेस लोन ,पर्सनल लोन इत्यादि।

10. मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड

मारुति सुजुकी की स्थापना औऱ संस्थापक :–

1981 में संजय गांधी द्वारा |

मारुति सुजुकी का मार्केट केप :–

2,95,134 करोड़ |

मारुति सुजुकी के 01 शेयर की कीमत :–

₹ 9770

मारुति सुजुकी की टॉप cars :–

1. Maruti Invicto.  28 लाख 
2. grand vitara.   11 लाख 
3. Maruti Baleno.    7 लाख 
4. Maruti Dezire. 6.50 लाख 
5. Maruti Ciaz.     10 लाख
6. Maruti Swift.     6 लाख 
Note :–
ये डाटा 22 जुलाई 2023 तक का है क्यूंकि शेयर प्राइस हर दिन उपर नीचे होते रहते हैं |

निष्कर्ष :–

मैंने हर एक मुख्य पहलू को कवर करने की कोशिश की है लेकिन अगर फिर भी कहीं कोई मुख्य बिंदु गलत हो जाता है या छूट जाता है तो कमेन्ट बॉक्स में जरूर अपनी राय दें |

धन्यवाद!!!!🙏🙏🙏🙏🙏

उम्मीद करता हूं आपको ये पोस्ट पसंद आयी होगी वैसे अगर आप शेयर मार्केट को बिल्कुल गहराई से जानने की इच्छा रखते हो तो यूट्यूब पर इन्हें जरूर subscribe करें :–

Pushkar Raj Thakur

Pranjal kamra

शेयर मार्केट की टाइमिंग क्या है?

सुबह 0915 से लेकर सांय 1530 बजे तक |

क्या मैं शनिवार को शेयर खरीद सकता हूं?

भारत में वीकेंड यानी शनिवार और रविवार को ट्रेडिंग नहीं होती |भारत मे ट्रेडिंग सिर्फ Monday to Friday ही होती है |

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए कौन सा टाइम बेस्ट है?

intraday trading के लिए सुबह 10 बजे के आसपास और दिन को 2:30 और 1500 के बीच का समय सबसे बेहतर माना जाता है |

क्या मैं 10,000 शेयर खरीद सकता हूं?

जी हाँ |
यदि आपके पास पर्याप्त धन है तो आप कितने भी शेयर खरीद सकते हो |

कॉल एंड पुट क्या है?

कॉल ऑप्शन यानी आप स्टॉक खरीद सकते हो |
और
पुट ऑप्शन यानी आप शेयर को बेच सकते हो |

क्या मैं 17 साल का हो सकता हूं और स्टॉक खरीद सकता हूं?

भारत मे ट्रेडिंग करने की वैधानिक उम्र 18 वर्ष है यदि आप 18 वर्ष से कम हो और भारत मे रहते हो तो आप ट्रेडिंग नहीं कर सकते |

ज़ेरोधा को कौन नियंत्रित करता है?

Zerodha को इसके सह संस्थापक नितिन कामथ ही नियंत्रित करते हैं इन्होंने ही 2010 में Zerodha की शुरुआत की थी |

अपस्टॉक्स का मालिक कौन है?

2009 में, रवि कुमार, श्रीनी विश्वनाथ और कविता सुब्रमण्यन ने मिलकर अपस्टॉक्स की सह-स्थापना की थी |आज upstox के 40 लाख से ज्यादा सक्रिय उपभोक्ता हैं |

Related Post :–

Mutual fund क्या होते हैं | Best 10 Mutual Funds For Long Term

G-20 क्या है |Why G-20 is Important for India |

मार्केट कैपिटलाइजेशन क्या होता है |What is The Meaning of Market Capitalization |

इन्टरनेट ट्रेडिंग क्या होती है |What is Internet trading And its Importance |

ट्रेडिंग में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है |Why support and Resistance is Important for Beginners|

शेयर बाजार में ICO क्या होता है |Why Initial Coin Offering is Important |

Groww | Best Broker Of The Day

एंजेल वन | Best Broker in India

ट्रेडिंग के कितने प्रकार हैं |Types of Trading in Share Market

हर्षद मेहता एक बिग बुल:: स्कैम 1992

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top