What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|

यदि आप भी एक बेहतर स्टॉक पोर्टफोलियो बनाने की सोच रहे हैं तो यह ब्लॉग आपकी काफी मदद करेगा जिसमें आप जानेंगे What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|

What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|
पोर्टफोलियो

Table of Contents

पोर्टफोलियो शब्द का अर्थ :–

पोर्टफोलियो शब्द का मतलब या अर्थ होता है निवेशों का समूह। अर्थात हमारे द्वारा शेयर मार्केट में स्टॉक, कमोडिटी, बॉन्ड या म्यूचुअल फंड में निवेश किए गए पैसों के समूह को मार्केट की भाषा में पोर्टफोलियो कहते हैं।

शेयर मार्केट में आपके पोर्टफोलियो में जितनी विविधता होगी उसमें रिस्क उतना ही कम होता है।

पोर्टफोलियो क्या दर्शाता है
  • पोर्टफोलियो बताता है आपको, आपके किस निवेश पर कितना रिटर्न मिल चुका है|
  • पोर्टफोलियो बताता है आपने किस जगह कितना पैसा निवेश किया है|
  • पोर्टफोलियो बताता है हमारी किस निवेश की वैल्यू कितनी बढ़ी या घटी है|
  • पोर्टफोलियो बताता है हम कुल कितना पैसा निवेश कर चुके हैं और अब उसकी कीमत कितनी बची है|
  • पोर्टफोलियो बताता है अब तक आपने कुल कितने शेयर या म्यूच्यूअल फंड खरीदे हैं|
डिफेंसिव या सुरक्षित पोर्टफोलियो क्या होता है


डिफेंसिव या सुरक्षित पोर्टफोलियो का मतलब है कम रिस्क वाला पोर्टफोलियो|

यह पोर्टफोलियो सभी ख़तरों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाता है|इस तरह का पोर्टफोलियो सेफ होता है क्योंकि इसमें हम ज्यादातर उसी जगह निवेश करते हैं जहां पर हमारा पैसा सुरक्षित रहता है।

उदाहरण के लिए :–

हम शेयर बाजार में कम रिस्क के लिए Nifty 50 इंडेक्स वाले स्टॉक्स में ही पैसा निवेश करते हैं यानी लार्ज-कैप वाली ब्लू चिप कंपनियों के शेयर ही हम खरीदते हैं|

क्योंकि लंबे समय मे ये बड़ी कम्पनियाँ हमेशा बेहतर रिटर्न बना कर ही देती है|
मतलब यदि आपने HDFC या रिलायंस टाटा की किसी कंपनी का शेयर खरीदा है तो आपका पैसा बढ़ने के चांस बहुत ही ज्यादा होते हैं|

इंडेक्स फंड और लार्ज-कैप म्युचुअल फंड भी सुरक्षित पोर्टफोलियो का ही उदाहरण है|

इनमे आपका पैसा 90% ग्रो करता ही करता है|

2.अग्रेसिव या जोखिम भरा पोर्टफोलियो


अग्रेसिव पोर्टफोलियो का अर्थ है अधिक जोखिम वाला पोर्टफोलियो. इसमें हम हाई रिस्की इन्वेस्टमेंट करते हैं। इस प्रकार का पोर्टफोलियो ज्यादातर निवेशकों द्वारा अधिक रिटर्न पाने के उद्देश्य से बनाया जाता है।

इसमें हम पैनी स्टॉक्स या स्मॉल केप कम्पनियों में पैसा लगाते हैं जिनमें हमारा पैसा या तो बहुत ज्यादा और जल्दी बढ़ सकता है या फिर पूरी तरह से डूब भी सकता है।

हमारा यह पोर्टफोलियो निफ्टी और सेंसेक्स जैसे बड़े इंडेक्स के मुकाबले बहुत तेजी से ऊपर नीचे होता रहता है।

लेकिन ध्यान रहे इस तरह के पोर्टफोलियो में आपका पैसा डूबने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है इसलिए ऐसा पोर्टफोलियो तभी बनाएँ जब आपको मार्केट का सम्पूर्ण ज्ञान हो|

3. इंकम पोर्टफोलियो या डिविडेंड पोर्टफोलियो

इंकम पोर्टफोलियो का साफ़ और स्पष्ट सा उद्देश्य होता है डिविडेंड के लिए निवेश करना। यानी कि जब हम केवल उन्हीं कंपनियों के शेयर खरीदते हैं जो डिविडेंड देते हैं तो ऐसा कहा जाता है कि आपने इंकम पोर्टफोलियो बनाया है।

इस तरह के पोर्टफोलियो में हम ग्रोथ की बजाय कंपनी का डिविडेंड देखते हैं|

इसमें हम डिविडेंड देने वाले शेयर जैसे– ITC, NTPC, Oil India,वेदांता और इन्फोसिस आदि स्टॉक्स में अपना पैसा निवेश करते हैं ताकि हमें हर साल डिविडेंड राशि के रूप में कुछ रिटर्न मिलता रहे।

4. Speculative पोर्टफोलियो या ऑप्शन ट्रेडिंग पोर्टफोलियो


यह पोर्टफोलियो अक्सर हम फ्यूचर एंड ऑप्शंस में ट्रेडिंग करने के लिए बनाते हैं। इसमें आपका पैसा बहुत जल्दी बढ़ने या घटने के चांस होते हैं इसीलिए इसे Speculative Portfolio कहते हैं|

यदि आप इन्वेस्टमेंट की बजाए ट्रेडिंग करने के लिए पैसा लगाते हैं तो वह speculation की श्रेणी में गिना जाता है।

इस तरह के पोर्टफोलियो में स्विंग ट्रेडिंग, इंट्राडे ट्रेडिंग और ऑप्शन ट्रेडिंग शामिल है।

इन सभी ट्रेडिंग में से ऑप्शन ट्रेडिंग सबसे ज्यादा खतरनाक और हानिकर मानी जाती है क्योंकि इसमें आपके लाखो रुपये कुछ ही मिनटों में जीरो हो सकते हैं|

5. Diversified या व्यवस्थित पोर्टफोलियो का अर्थ :–

व्यवस्थित पोर्टफोलियो का अर्थ होता है अलग-अलग जगह पैसा निवेश करना ताकि मार्केट के जोखिम को बिल्कुल कम किया जा सके|

यह पोर्टफोलियो मुख्यतौर पर आपके रिस्क को कम करने के इरादे से बनाया जाता है|

इस तरह के पोर्टफोलियो को बनाने के पीछे हमारा केवल एक ही उद्देश्य होता है कि अगर कोई एक कंपनी का शेयर डूब भी जाए तो दूसरी कंपनी हमें बचा सके|

उम्मीद करता हूं आपको इस ब्लॉग What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ| से कुछ नया सीखने को मिल रहा होगा|

What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|
Time to Build A Portfolio
निवेश के आधार पर पोर्टफोलियो के प्रकार :–
  • स्टॉक पोर्टफोलियो
  • म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो
  • इंडेक्स फंड पोर्टफोलियो
  • कमोडिटी पोर्टफोलियो
  • रियल एस्टेट पोर्टफोलियो
  • डेट फंड पोर्टफोलियो
किसी पोर्टफोलियो के प्रमुख घटक :–

स्टॉक :–

जब भी हम पैसे देकर किसी कंपनी की भागीदारी खरीदते हैं तो उस खरीदे गए अंश को हम स्टॉक कहते हैं|

स्टॉक की कीमत हर दिन बदलती रहती है|कोई भी स्टॉक हर दिन स्थाई प्राइस नहीं रखता|

यानी TCS के 01 शेयर की कीमत आज 3200 है तो कल 3210 या 3190 के आसपास होगी अर्थात कीमत में परिवर्तन अवश्य होता है|

बॉन्ड :–

बांड एक निश्चित तिथि में बढ़ने की तारीख के साथ आते हैं और स्टॉक की तुलना में ये कम जोखिम भरे माने जाते हैं।

यदि आप एक अच्छा और सुरक्षित पोर्टफोलियो बनाना चाहते हैं तो ध्यान रखें उसमे बॉन्ड को अवश्य शामिल करें|

Alternatives ya अन्य विकल्प

स्टॉक और बॉन्ड के अलावा, निवेशक वैकल्पिक निवेश साधन जैसे तेल, रियल एस्टेट, सोना,म्युचुअल फंड आदि में भी पैसा जोड़ सकता है।

पोर्टफोलियो बनाते समय ध्यान में रखने वाली बातें

विविधता (Diversification):

ध्यान रहे जब भी आप शेयर बाजार में निवेश करने की सोचें,तो सबसे बेहतर तरीका है कि आप अपने निवेश के पोर्टफोलियो को विविधता प्रदान करें|

क्योंकि इस तरह के पोर्टफोलियो में आपको अलग अलग समय में अलग अलग सेक्टर द्वारा मिला जुला रिटर्न दिया जाता है|

निवेश लागत को कम रखें :‐

निवेशकों के लिए सबसे बड़ा खर्च कमीशन शुल्क और प्रबंधन खर्च है। यह विशेष रूप से प्रासंगिक है यदि आप नियमित रूप से स्टॉक खरीदते और बेचते हैं। डिस्काउंट ब्रोकरेज फर्म के साथ निवेश करने पर विचार करें।

ये कंपनियां अपने ग्राहकों से काफी कम शुल्क लेती हैं। साथ ही लंबी अवधि के लक्ष्यों के लिए निवेश करते समय, बाजार में अल्पकालिक परिवर्तनों के आधार पर निर्णय नहीं लेना सबसे अच्छा है।

नियमित निवेश या SIP :

अपने पोर्टफोलियो को मजबूत और बेहतर करने के लिए नियमित रूप से निवेश करें। यह स्ट्रेटेजी ना केवल आपको लंबे समय तक अपनी संपत्ति को बढ़ाने में मदद करता है, बल्कि आप में निवेश अनुशासन की आदत भी पैदा होती है।

और SIP में आपको समय के साथ Compounding का मैजिक भी देखने को मिलता है|

फालो-अप खरीदारी करें:

जब आप किसी नए स्टॉक में निवेश करने की सोच रहे हैं,तो हो सकता है कि आपको पता न चले कि यह स्टॉक कैसा प्रदर्शन करने वाला है।

तो सुरक्षा की दृष्टि से, एक ही निवेश में अपनी पूरी स्थिति को कम करने से बचना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

इसके लिए फालो-अप की रणनीति को अपनाएँ जिसमें समय के साथ साथ अपने निवेश को धीरे धीरे बढ़ाए|इसी को फॉलो-अप स्ट्रैटिजी कहते हैं|

मुझे आशा है इस ब्लॉग ने What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|ने आपके पोर्टफोलियो से जुड़े आपके सभी सवालों के जवाब आपको दे दिए होंगे|

What is Portfolio And How We make A Good Portfolio | पोर्टफोलियो क्या होता है और एक बेहतर पोर्टफोलियो कैसे बनाएँ|
Deal In Rupees

बेहतर जानकारी के लिए आप इन्हें चेक कर सकते हैं..👇👇👇👇👇👇

Tickertape

Market Watch

नंबर 1 शेयर मार्केट किंग कौन है?

विश्व में वारेन बफेट और भारत में राकेश झुनझुनवाला|

शेयर मार्केट में सबसे ज्यादा पैसा कौन कमाता है?

भारत में राधाकृष्ण दमानी और राकेश झुनझुनवाला शेयर मार्केट से सबसे ज्यादा पैसा कमाते हैं|

शेयर मार्केट के लिए कौन सा कोर्स बेस्ट है?

1.नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का SBI कोर्स
2.NIFM सर्टिफाइड स्मार्ट इनवेस्टर कोर्स
3.एडवांस टेक्निकल एनालिसिस सर्टिफिकेट कोर्स
4.फाइनेंसियल मार्केट मैनेजमेंट में डिप्लोमा
5.फाइनेंसियल मार्केट एमजीटी में सर्टिफिकेट कोर्स

राकेश झुनझुनवाला ने कितने पैसे से शुरुआत की थी?

1985 में 5000 से शुरुआत की थी|

राकेश झुनझुनवाला कब मरा?

14 अगस्त 2022 को diabeties के कारण|

भारत में यूट्यूब पर सबसे ज्यादा पैसा कौन कमाता है?

टेक्निकल गुरुजी चैनल के मालिक गौरव चौधरी |

विश्व का सबसे बड़ा यूट्यूबर कौन है?

🇮🇳 T-Series – 246 million subscribers.

🇺🇲 MrBeast – 171 m.

🇺🇲 Cocomelon – Nursery Rhymes – 163 m.

🇮🇳 SET India – 160 m.

🇺🇦 Kids Diana Show –
113 m.
🇸🇪 PewDiePie – 111 m.🇺🇲 Like Nastya – 106 m.🇺🇲 Vlad and Niki – 99 m.

शेयर मार्केट में डिविडेंड स्टॉक्स कौन से होते हैं |What is Dividend Stocks In Share Market

ट्रेडिंग में सपोर्ट और रेजिस्टेंस क्या होता है |Why support and Resistance is Important for Beginners|

जंक बॉन्ड क्या होते हैं|Everthing You Need to Know About Junk Bonds|

Best Tips For Traders In Hindi | शेयर बाजार के लिए टॉप 30 टिप्स |

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top